Sunday, June 25, 2017

Password Of the FUTURE!! - Emotional ID - Brainwaves - In Hindi


दोस्तों आप सभी विजिटरस अपने मोबाइल फोन में टैबलेट में कंप्यूटर में लैपटॉप में बहुत ही मुश्किल टेढ़ा-मेढ़ा वाला पिन या पैटर्न या पासवर्ड या फिर फिंगरप्रिंट्स काम में लेते हैं।  क्या आगे चलकर हम फ्यूचर में इन्ही को काम में लेते रहेंगे।  तो आप इस पोस्ट को आगे पढ़िए और हम आज बात करेगे Emotional ID और Brainwaves के बारे में तो चलिए शुरू करते हैं।
Future Password-Emotional ID-Brainwaves??
दोस्तों हम इतने सालों से काम में ले रहे हैं, इस तरह के डिवाइस को लेकिन जो हमारा पिन होता है 1,2,3,4,5,6 वह बदल नहीं रहा है। लेकिन ठिक है, हमने बॉयोमेट्रिक्स में अच्छे से तरक्की की है। हम कम कीमत मे Finger Print, Eyes Scanner, Voice Activation, Face Detection, लेकिन आगे हमें Future में और भी Strong वाले Passwords चाहिए?? तो क्या वो Strong Password आप अपनी उंगलियों से टाइप करेंगे??लेकिन यह तो पुरानी बात हो गई। लेकिन हम आगे चलकर अपने Future मे काम में लेने वाले हैं Emotional ID को।  यह मोबाइल फोन और टैबलेट में होगा या नहीं यह तो आगे देखने वाली बात है। लेकिन दोस्तों हमें कुछ ऐसी जगहों पर चाहिए, Complete Secure Anywhere और अगर मैं आपसे बात करता हूं, मिलिट्री की या ऐसे ही कोई Secret जॉन की वहां पर भी काफी सारी Secure Layers होती है, जिनको पास करने के लिए आपको तरह - तरह के Multiple Authentication System के थ्रू जाना पड़ता है. तो ऐसे में आगे  हम Emotional ID काम लेंगे है।

What Is Emotional ID??How will it be safe?
दोस्तों आप मान लीजिए कि आप कोई Wallpaper को देख रहै हैं। तो देखते टाइम पर आपके दिमाग में एक Specific Thought (विशिष्ट विचार) चल रहा है। देखते ही आपके दिमाग में पहला कुछ ख्याल आया होगा।

Also Read:- How to Add Custom Robots.txt File in Blogger ?? - Full Guide - In Hindi

आपको एक उदहारण ओऱ देता हुँ।
मान लीजिए अगर आपको मैं एक फोटो दिखाता हूं डायनासोर की और एक दिखाता हूं ढिंचक पूजा की तो ऐसे में आप उनको देखते ही दिमाग में पहला Thought(विचार) आयेगा, वो जो Thought है वह आपके ही दिमाग में आयेगा। सबके दिमाग के रिएक्शन अलग-अलग होते हैं। मतलब की हर कोई व्यक्ति किसी भी Specific फोटो को देख कर जैसे रिएक्टर करेगा वह बिल्कुल अलग होगा। वह सिर्फ आप ही जानते हैं आप उसको देख कर कैसे रिएक्ट करने वाले हैं और अगर ऐसे में दोस्तों आप के दिमाग से उन्ही Signals को ले, और बाद में काम मे ले एक Password की तरह तो यह बहुत ज्यादा Secure होने वाला है।

ठीक है लेकिन ऐसा हो सकता है कि आपको कोई Typical Device पहनना पड़े। आगे जाकर क्या पता कोई एक Wireless System हो जहां पर आपने एक चिप लगा दिया। उसके बाद मे जो आपके दिमाग के Signals है वह आगे Transfer हो रहे हैं लेकिन यह जो है इसको Reppliget कर पाना Possible नहीं है और अगर Reppliget कर लिया तो यह डिजिटल फॉर्मेट में इंफॉर्मेशन हो और बाद में डिलीट भी कर सकते हैं। अब आप मान लीजिए कि मेरा Finger Print है तो मेरे Finger Print का Copy आपने बना लिया मुझे मालूम भी नहीं है, तो आप भी उसे काम में ले रहे हैं। लेकिन जो यहां पर Brainwaves  हैं जो आपके लिए आपका Emotional ID आपके लिए यूनिक है।

दोस्तों यह Password कंडीशन के हिसाब से बदल सकते हैं। आप उदारण के लिए मान लीजिए कि आपको कोई पकड़ कर ले आ रहा है और आपको बोलता है कि इस Lock को खोलकर दिखाओ। और अगर वह Pin है तो आपको खोलना पड़ेगा, Password है तो आप को डालने पड़ेंग, Finger Print को तो अपने आप लगा लेगे। दोस्तों अगर .यहा पर Emotional ID है तो उस टाइम आपके मन में कोई घबराहट चल रही है डर चल रहा है अगर कुछ और Thought चल रहा है तो उससे वह नहीं खुल पायेगा। उस फोटो को देखकर आपके मन में Thought आएगा और वही सेम Thought नहीं होंगे जो आप नॉर्मल काम में लेते हैं तो यहां पर यह इस मामले में काफी और Strong हो सकता है, और इसके अलावा मान लीजिए कि आप खुद जो है नशे में है और आप खुद होश में नहीं है और आप सोच रहे कि मैं अपने सिस्टम को लॉगिन कर कुछ काम करने का तो उस टाइम भी वह सिस्टम आपको Denied करेगा। दोस्तों यहां पर चाहे मैं आपसे बात करता हु मेडिकल Feed की या मान लीजिए मिलिट्री वगैरह की तो वहां पर ऐसा कुछ ऐसा नहीं है कि नशे में कुछ काम कर दिया यहां पर अगर आप अपने पूरा कंट्रोल में नहीं है तब तक उस सिस्टम मे नहीं जा सकते।

तो Emotional ID आगे चलकर जगह जगह पर काम में आने वाली है। और देखते हैं आगे कैसे काम में आएगा। मोबाइल फोन में टैबलेट में सोचो कि आप अपने मोबाइल फोन की Screen on की Unlock और उसके सामने आपको एक Wallpaper आया और आपको उसको देखना है और अगर आप उससे मैच कर गए तो अनलॉक हो जाएगा, और अगर आप कोई और है तो वह आपके फोन को याद करेगा इससे अनलॉक नहीं होगा।

Also Read:- How to add Categories In Blogger - In Hindi

दोस्तों आप बताइए कि आप किसकी फोटो देखकर आप अपने फोन को अनलॉक करना चाहेगे क्योकि यहां पर जो Research हुई है उसमें यह मालूम चला है कि 50 व्यक्तियो ने 500 अलग-अलग फोटोस देखकर सभी के जो Thought को मैच किया गया और यहां पर 100% एक्यूरेसी के साथ में सिस्टम ने यह बता दिया कि कौन सा व्यक्ति कौन सा है क्योकि सबके जो Thought है वह अलग अलग थे।


दोस्तों मैंने यह पोस्ट लिखी है और आप नीचे कमेंट करना मत भूलिएगा और अगर आप हमारे साथ नहीं जुड़ा तो हमारे साथ जुड़ने के लिए Subscribe Box मे अपना E-Mail डाम कर Sumbit बटन पर क्लिक कीजिए जिससे आप को E-Mail  भेजा जाएगा, जिससे वह सबसे पहले आप पढ सकते है।

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई तो Social Media पर अपने दोस्तों के साथ Share करना मत भूलिएगा।

जय हिंद, वंदे मातरम!!

Please Share, Support And SUBSCRIBE!!! 

Keep Sharing... Keep Supporting

Also Read:-  

How To Add Social Media Share Button In Blogger Post - In Hindi

How to Add Privacy Policy in Blogger ?? - In Hindi


How to enable Search Description For Blogger And Blog Post ?? - In Hindi

What Is A Blog Fevicon ?? What Is A Blog Fevicon ?? In Hindi

Previous Post
Next Post

About Author

Hi,
Welcome to MrTechIndian.I am Mohit Jangir, Professional Blog Writer From Nohar. Here at MrTechIndian I write About Technical Explained,Start A Blog News,Review,Blogging And SEO.

0 comments: